सुपारी के औषधीय गुण शरीर के कई अंगों के लिए है लाभदायक

सुपारी का उपयोग प्राचीन काल से उल्टी ,दस्त और दांत के दर्द को दूर करने के लिए उपयोग होता आ रहा है ।प्राचीन काल से जिसका उपयोग गुटखा और तंबाकू में होता है।

सुपारी क्या है?

 सुपारी एरिका कटेचू नामक पौधे का बीज है।

सुपारी विश्व के किन-किन देशों में पैदा होता है?

(1) भारत

(2) कजाकिस्तान

(3) अफगानिस्तान

(4) म्यांमार

(5) ब्रूनेई

(6) इंडोनेशिया

(7) थाईलैंड

सुपारी में पाया जाने वाले पोषक तत्व कौन -कौन सा है?

(1) प्रोटीन

(2) फैट

(3) कैल्शियम

(4) विटामिन बी1

(5) विटामिन बी2

(6) सोडियम

(7) पोटेशियम

(8) फास्फोरस

(9) लोहा

सुपारी शरीर में होने वाले किस-किस रोगों के लिए लाभदायक है?

(1)वोमिटिंग रोकने में सहायक (2)दांत के दर्द को दूर करने में कारगर (3)सुपारी मुंह के छालों को भी ठीक करता (4)दस्त को रोकने में भी सहायक (5) इंफेक्शन रोकने में सहायक

सुपारी के सेवन से शरीर पर क्या दुष्प्रभाव पड़ता है?

(1) मसूड़े और दांत क्षतिग्रस्त हो सकते हैं। (2) ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है। (3) एलर्जी की भी समस्या उत्पन्न हो सकती है। (4) सिर में दर्द भी हो सकता है।

सुपारी का उपयोग कैसे करें?

सुपारी का उपयोग चाय में डालकर या तो गुनगुने पानी में या तो काढ़ा बनाकर या तो पीसकर स्किन पर लगाने के रूप में प्रयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

सुपारी के सेवन से दांत के दर्द ठीक हो जाते हैं और मुंह के छाले भी ठीक हो जाते हैं और उल्टी और दस्त की समस्या भी दूर हो जाती है और साथ ही साथ इसमें कैल्शियम, विटामिन बी और फैट और साथ ही साथ प्रोटीन भी पाया जाता है।