shukrawar ko kya karna chahiye: भारत में हिन्दू धर्म के अनुसार सप्ताह का हर एक दिन अलग-अलग देवी-देवता को समर्पित किया गया है। और शुक्रवार को धन की देवी माता लक्ष्मी को समर्पित है, ज्योतिष के अनुसार शुक्रवार शुक्र ग्रह का दिन होता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक़ शुक्र ग्रह को वैभव, धन, प्रेम व भौतिक सुखों का कारक माना जाता है।

और यही कारण है कि शुक्रवार shukrawar के दिन माता लक्ष्मी को खुश करने और सुख-समृद्धि पाने के लिए बेहद शुभ माना गया है। जो परिवार शुक्रवार के दिन विधिवत मां लक्ष्मी का पूजन करता है माता उससे प्रसन्न होती हैं और उसपर अपनी कृपा बरसाती हैं। shukrawar ko kya karna chahiye लेकिन जिस तरह इस दिन आप उन्हें खुश कर सकते हैं उसी तरह से कुछ कार्यों को करने से धन की हानि भी हो सकती है। इसलिए बताए गए इन कार्यों को भूल कर भी नहीं करना चाहिए।

किसी को उधार न दें न किसी से उधार लें – shukrawar ko kya karna chahiye

शुक्रवार shukrawar को ऐसे तो कहीं मना नहीं किया गया है लेकिन यह धन की देवी का दिन हैं और इसी वजह से इस दिन हो सके तो न तो उधार वापस लें या किसी और को वापस करने का सोचें । क्योंकि इससे आर्थिक तंगी भी हो सकती है।

इनका अपमान न करें

सनातन धर्म के अनुसार नारी को अन्नपूर्णा और माता लक्ष्मी का रुप माना गया है। और जिस जगह नारी का अपमान होता है उस जगह किसी भी देवी-देवता की कृपा नहीं बरसती है। शुक्रवार के दिन ज़रूरी है कि आप इस बात का ख़ास ख्याल रखें। क्योंकि जिस घर में नारी का अपमान होता है माता लक्ष्मी उस घर को त्याग देती हैं और उस घर में दरिद्रता भी बढ़ जाती है।

चीनी का दान न करें – shukrawar ko kya karna chahiye

दान-पुण्य सबसे श्रेष्ठ कर्मों में से एक होता है, हालांकि मान्यताओं के अनुसार शुक्रवार के दिन चीनी का दान करना मना है और न ही किसी के मांगने पर भी देना चाहिए। शुक्र ग्रह से जोड़कर देखा जाए तो ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से आपका शुक्र ग्रह कमजोर हो जाता है। और इसकी वजह से आपके जीवन में धन-धान्य की भी कमी हो सकती है।

घर को गन्दा न रखें

shukrawar ko kya karna chahiye, बता दें कि जिस घर में साफ-सफाई नहीं होती है वहां माता लक्ष्मी भी वास नहीं करती हैं। इसी वजह से अपने घरों को हमेशा साफ रखना चाहिए। घर के साथ-साथ खुद को भी साफ रखना चाहिए, वरना इससे आपका शुक्र कमजोर हो जाता है। और शुक्रवार को इस बात का खासतौर पर ख्याल रखें वरना घर में दरिद्रता का आगमन हो सकता है।

यह भी पढ़े: भक्तों द्वारा की गई शिव चर्चा। “हे शिव जी ! आप जन जन के गुरु हैं, मैं आपका शिस्य हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here