Shiv Charcha 3 Sutra

Shiv Charcha 3 Sutra: भगवान शिव जी शैव धर्म में प्रमुख हैं, शिव जी की दुनिया भर में शिस्यो द्वारा शिव चर्चा के छोटे छोटे जगह जगह पर समूह बना रखे हैं। भगवान शिव जी को समझ सकना और उनके सूत्रों को समझना अलग बातें होती हैं।

Shiv Charcha 3 Sutra – शिव जी पूरे संसार में खुद के ३ सूत्रों के लिए जाने जाते हैं।

1. पहला सूत्र होता है दया माँगना

शिव जी से दया माँगना , जब आप शिव जी को सच्चे मन से दिल से याद करेंगे तो शिव गुरु जी आपकी भावनाओं और आपकी सच्चाई को देखकर आप पर दया व् कृपा करने पर विवश हो जायेंगे और हम ये भी जानते हैं कि हर कार्य शिव गुरु की दया कृपा से शुरू होता। “हे शिव जी ! आप जन जन के गुरु हैं, मैं आपका शिस्य हूँ और मैं आपके आधीन हूँ। हे प्रभु ! आप अपने इस भक्त पर दया करें।”

2. दूसरा सूत्र होता है चर्चा करना

यह शिव जी कि चर्चा करने का सबसे महत्त्वपूर्ण सूत्र है, चर्चा का यह मतलब है की जब दो या दो से ज्यादा मनुष्य किसी भी विषय पर बात करते हैं, तो उसे चर्चा कहते है। वैसे ही जब दो या दो से ज्यादा मनुष्य शिव गुरु को याद करते हैं तो उसे हम अपने शिव गुरु की चर्चा कहते हैं इसमें हम अपने गुरु का ध्यान करेंगे।

जब हम भगवान शिव की चर्चा दो या दो से अधिक मनुष्यों के बीच करते हैं तो हमारा शिव गुरु से, शिव गुरु-शिष्य का रिश्ता बन जाता है और जैसा की आप जानते है कि गुरु-शिष्य के लिए क्या क्या करता है। Shiv Charcha 3 Sutra “चर्चा का सबसे मुख्य उद्देश्य यह होता है कि “जिन भक्तो को यह नहीं पता है कि भगवान शिव आज भी हमारे गुरु हैं और वह एक गुरु कि तरह रास्ता दिखाते हैं।

3. तीसरा सूत्र होता है नमन करना – Shiv Charcha 3 Sutra

यहाँ नमन करने का मतलब है, की एक तरह से प्रणाम करना होता है और जब हमने शिव को गुरु बना लिया है तो नमन करना ही है। नमन करने के लिए दो तरीके होते हैं, पहला यह है माला विधि और दूसरा है की अजपा जाप। इन दोनों तरीकों में से आप किस भी जाप से शिव गुरु को प्रणाम कर सकते हैं।

“नमः शिवाय “

इस मंत्र को 108 बार रोज सोने से पहले पड़ने से, कुछ ही दिनों में आप ऐसा महसूस कर पाएंगे कि आपके जीवन में कुछ अच्छे बदलाव आ रहे हैं। आपको ऐसा लगेगा आप सही मार्ग पे चल रहे है और आपको जीवन में कोई भी परेशानी हो आप शिव जी से कहे उनसे पूछे उन्हें बताये और यह कहे की आपको अगर लगे की यह मेरे लिए सही है तोह ही मेरे ज़िन्दगी में हो शिव गुरु आपके सारे दुःख और कष्ट दूर कर लेंगे।

शिव-शिव हैं देवों के देव महादेव ! इसलिए कहा जाता है कि भगवान शिव जी इस पुरे संसार को संवार भी सकते हैं और बिगाड़ भी सकते। यह संसार शिव की रचना है, शिव जी ही सबके स्वामी हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here