सफेद पेठे के फायदे और नुकसान

0
808
Safed Petha Ke Fayde aur Nuksan

Safed Petha Ke Fayde Aur Nuksan:- ईशा फाउंडेशन के संस्थापक जग्गी वासुदेव के अनुसार “सफेद पेठा एक प्रकार का सुपरफूड है, जिसमें सारे पोषक तत्व मौजूद हैं”। यदि इस सफेद पेठे का एक गिलास जूस प्रतिदिन सुबह के समय पिया जाए तो इससे बॉडी चुस्त-दुरुस्त रहती है। सफेद पेठे का उपयोग भारत के हर राज्य में अलग-अलग कल्चर की वजह से अलग-अलग ढंग से अपने आहार में लोग शामिल करते हैं जैसे उत्तर भारत में सफेद पेठे को अपने आहार के रूप में शामिल करने के लिए सफेद पेठे को कोहरौरी के रूप में यूज किया जाता है। दक्षिण भारत के राज्यों में सफेद पेठे का यूज़ सब्जी बनाने से लेकर के सांभर बनाने तक के लिए भी उपयोग किया जाता है।

आइए जानते हैं कि सफेद पेठा आखिरकार क्या होता है?:

सफेद पेठा एक तरह की सब्जी है जिसका उत्पादन उत्तर प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़ और पंजाब में बहुतायत में होता है और इसके अलावा शेष भारत में भी इसका उत्पादन होता है। जलवायविक भिन्नता के कारण दक्षिण भारत में उत्तर भारत की तुलना में इसका उत्पादन कम है। इसके लिए सबसे उपयुक्त मिट्टी जलोढ़ मिट्टी है और इसके लिए जो वार्षिक औसत तापमान चाहिए वह न्यूनतम 25 डिग्री सेल्सियस लेकर के मैक्सिमम 33 डिग्री सेल्सियस तक होनी चाहिए। सफेद पेठा को भारत के अलग- अलग राज्यो में अलग- अलग नाम से जाना जाता है जैसे- व्हाइट पंपकिन और एस गार्ड और सफेद कद्दू।

सफेद पेठा सुपर फूड के नाम से क्यों जाना जाता है?

सफेद पेठा में पाए जाने वाला न्यूट्रिशन के कारण इसे सुपर फूड कहा जाता है जो निम्नलिखित है-

(1)प्रोटीन

(2)कार्बोहाइड्रेट

(3)फाइबर

(4)कैल्शियम

(5)आयरन

(6)मैग्नीशियम

(7)फास्पोरस

(8)पोटेशियम

(9)सोडियम

(10)जिंक

(11)कापर

(12)मैगनीज

(13)सेलेनियम

(14)विटामिन-सी

(15)थायमिन

(16)फैटी एसिड(टोटल सैचुरेटेड)

(17)राइबोफ्लेविन

(18)नियासिन

(19)फैटी एसिड (टोटल मोनोअनसैचुरेटेड)

(20)विटामिन बी-6

(21)फैटी एसिड(टोटल पोलीअनसैचुरेटेड)

(22)फोलेट

सफेद पेठे के सेवन के पश्चात होने वाले फायदे कौन-कौन से हैं?

(1) इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है-

 सफेद पेठा में विटामिन सी पाया जाता है। विटामिन सी इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करने के लिए सबसे अच्छा होता है। इसलिए जिस भी व्यक्ति की इम्यून सिस्टम कमजोर है, उसे अपने आहार में सफेद पेठे को जूस के रूप में, सब्जी के रूप में, सांभर के रूप में या हलवे के रूप में इसे जरूर शामिल करना चाहिए।

(2) वजन घटाने में सहायक

 सफेद पेठा वजन घटाने में भी काफी हद तक कारगर है क्योंकि सफेद पेठा में anti-obesity का गुण पाया जाता है जो मोटापा को दूर करता है। इसके अलावा आपको कम भूख लगे तो इसमें एनोरेक्टिस का भी गुण पाया जाता है इससे आपको भूख कम लगेगी और आप खाना कम खाएंगे जिससे आपका वेट लॉस तीव्र गति से होगा।

(3) कोल्ड से सुरक्षा प्रदान करता है

ईशा फाउंडेशन के संस्थापक जग्गी वासुदेव के अनुसार सफेद पेठे में anti-inflammatory और एंटीबैक्टीरियल का गुण पाया जाता है जो फ्लू और कोल्ड से आपको सुरक्षा प्रदान करता है।

(4) कब्ज गैस में गुणकारी

कई वैज्ञानिक शोध में यह साबित हो चुका है कि सफेद पेठा में एंटीऑक्सीडेंट का गुण पाया जाता है जो कब्ज गैस को ठीक करने के लिए सबसे उत्तम और चमत्कारी सुपरफूड है।

(5) तनाव से लड़ने में सक्षम बनाता है

पतंजलि योगपीठ संस्थान के अनुसार सफेद पेठे में तनाव से लड़ने के लिए anti-inflammatory और एक्सीडेंट का गुण पाया जाता है जो आपके मस्तिष्क की उद्वेलित तरंगों को ना केवल शांत करता है अपितु उन्हें दीर्घकालिक आराम भी प्रदान करता है।

(6) किडनी को प्रोटेक्ट करता है

प्रदूषण युक्त जल पीने से किडनी कि नेफ्रॉन नलिका में सूजन आने लगती है क्योंकि प्रदूषण युक्त जल में आर्सेनिक,मोलिब्डेनम और कोबाल्ट जैसे हानिकारक तत्व एक सीमा से अधिक पाए जाते हैं जो शरीर की मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देते हैं अब ऐसे में सफेद पेठा सबसे उपयुक्त हो जाता है धीमी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के लिए और किडनी की सुरक्षा प्रदान करने के लिए।

सफेद पेठे से होने वाले नुकसान कौन-कौन से होते हैं:

(1) एलर्जी की प्रॉब्लम हो सकती है।

(2) वॉमिटिंग की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

(3) जी मिचलाने की भी प्रॉब्लम हो सकती है।

(4) पेट में गुड़गुड़ाहट की भी प्रॉब्लम होती है।

सफेद पेठे का सेवन कैसे करें:

(1)जूस के रूप में

(2)सब्जी के रूप में

(3)हलवे के रूप में

(4)मिठाई के रूप में

निष्कर्ष:

Safed Petha Ke Fayde Or Nuksan:- सफेद पेठे को सुपरफूड भारत में भी बोला जाता है। इसका कारण है इसमें विटामिन और सूक्ष्म पोषक तत्वों का पाया जाना। इसीलिए लाखों फूड की प्रजाति की उपलब्धता में भी अपना इसका विशेष स्थान है।

Faq:
(1) सफेद पेठे का तासीर कैसा होता है?

सफेद पेठे का तासीर ठंडा होता है।

(2) सफेद पेठे का जूस कब पीना चाहिए?

सफेद पेठे का जूस मॉर्निंग में खाली पेट पीना चाहिए।

(3) सफेद पेठे का वैज्ञानिक नाम क्या है?

सफेद पेठे का वैज्ञानिक नाम बेनसिसा हस्पिडा है।

(4) सफेद पेठे का दूसरा नाम क्या है?

सफेद पेठे को पेठा, भतुआ, कोंहड़ा, कुम्हड़ा के नाम से भी जाना जाता है।

(5) क्या पेठा खाना सेहत के लिए अच्छा है?-

पेठा सेहत के लिए सबसे अच्छा है क्योंकि इसमें विटामिन और सूक्ष्म पोषक तत्व की भरमार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here