Natural sunscreen for face: सनस्क्रीन एक ऐसा उत्पाद है जो काफी समय से हमारे सौंदर्य शस्त्रागार में प्रमुख रहा है। हम अपनी त्वचा को सनबर्न और ओवरएक्सपोजर से बचाने के लिए सालों से हर मौसम में सनस्क्रीन लगाते रहे हैं। क्या हमने कभी इस पर विचार किया है कि क्या सनस्क्रीन में हमारी त्वचा को ढंकना स्वस्थ है? आज बाजार में मौजूद कई सनस्क्रीन में ऐसे पदार्थ होते हैं जो लंबे समय में हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

प्रभावी सनस्क्रीन विकल्प – Natural sunscreen for face

यदि आप कठोर, रासायनिक युक्त सनस्क्रीन के साथ अपनी प्यारी त्वचा को नष्ट नहीं करना चाहते हैं, तो यह प्राकृतिक घटकों पर स्विच करने का समय है जो आपको सूरज की हानिकारक किरणों से बचा सकते हैं। यहां कई प्राकृतिक, प्रभावी और सस्ते सनस्क्रीन विकल्प दिए गए हैं।

नारियल का तेल –

Nariyal Ka Tel

नारियल का तेल सूरज की 20 प्रतिशत किरणों को आपकी त्वचा से टकराने से रोक सकता है। यदि आप केवल थोड़े समय के लिए धूप में रहना चाहते हैं, तो यह 20% मदद कर सकता है। यदि आप लंबे समय तक रहना चाहते हैं तो आप हमेशा फिर से आवेदन कर सकते हैं।

नारियल का तेल न केवल आपकी त्वचा को धूप से बचाता है, बल्कि इसे मॉइस्चराइज भी करता है, सूजन को कम करता है, दाग-धब्बों को दूर करता है और आपकी त्वचा को लंबे समय तक मुलायम रखता है।

एलोवेरा –

Aleovera

एलोवेरा का उपयोग आमतौर पर धूप के संपर्क में आने वाली त्वचा के इलाज के लिए किया जाता है। इसका उपयोग लंबे समय से सनबर्न, जलन और लालिमा को ठीक करने के लिए किया जाता है। बहुत से लोग इस बात से अनजान हैं कि एलोवेरा का इस्तेमाल त्वचा को धूप से बचाने के लिए भी किया जा सकता है।

यह 20% तक यूवी किरणों को रोककर त्वचा को सूरज से बचा सकता है। यह सीमित अवधि के लिए एक ब्लॉक के रूप में कार्य कर सकता है, लेकिन इसे फिर से लागू किया जा सकता है। एलोवेरा न केवल सनस्क्रीन के रूप में, बल्कि हमारी त्वचा को कई तरह से लाभ पहुंचाता है:

  • दाग को हल्का करता है
  • त्वचा की एजिंग से लड़ता है
  • त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है
  • संक्रमण को कम करता है

तिल के बीज का तेल – Natural sunscreen for face

Til Ke Beej Ka Tel

धूप में निकलने से ठीक पहले अपनी त्वचा पर तिल के तेल की एक परत लगाने से सनबर्न से बचा जा सकता है। तिल का तेल आपकी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से 30% तक बचा सकता है। अगर आप ज्यादा देर धूप में रहना चाहते हैं तो तेल दोबारा लगाएं।

तिल का तेल त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ई होता है, जो आपकी त्वचा को यूवी विकिरण के साथ-साथ प्रदूषकों और दूषित हवा से बचाता है।

शिया बटर –

Shea Butter

शिया बटर का एसपीएफ़ लगभग 6-10 होता है, हालांकि इसका उपयोग उन दिनों में किया जा सकता है जब आप लंबे समय तक धूप में नहीं रहना चाहते हैं। यह आपकी त्वचा पर उपयोग करने के लिए एक उत्कृष्ट पदार्थ है क्योंकि इसमें विटामिन ए और ई होते हैं, जो आपकी त्वचा के लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं।

शिया बटर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट त्वचा को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाते हैं और त्वचा के कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। अगर आपकी त्वचा थोड़े समय के लिए धूप के संपर्क में रहती है, तो शिया बटर की एक मोटी परत इसे जलने से बचा सकती है।

जैतून का तेल और बादाम का तेल –

Jaitun ka Tel or Badam Ka Tel

ये दोनों तेल अक्सर भारतीय रसोई में पाए जाते हैं और विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में उपयोग किए जाते हैं।

बादाम और जैतून के तेल का उपयोग केवल खाना पकाने से कहीं अधिक के लिए किया जाता है; वे त्वचा और बालों के लाभ भी प्रदान करते हैं। बादाम और जैतून के तेल में विटामिन ई पाया जाता है, जो त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। सनस्क्रीन बनाने के लिए इन दो तेलों को प्राकृतिक अवयवों के साथ जोड़ा जा सकता है।

बादाम का तेल, जैतून का तेल, नारियल पानी और मोम को कांच के जार में डालकर गर्म पानी में डाल दें। जिंक ऑक्साइड डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। यह कुछ Natural sunscreen for face का समय है।

ये भी पढ़े: जानें आपकी त्वचा के लिए चमेली के पानी के अनेक फायदे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here