मटके का पानी पीने के फायदे

0
1347
Matke Ka Pani Pine Ke Fayde

Matke Ka Pani Pine Ke Fayde: चिलचिलाती धूप में जब गला सूख जाता है तो सूखे गले को तर करने के लिए ठंडे पानी का उपयोग करते हैं। ठंडा पानी पीने से गर्मी के मौसम में प्यास भी बुझती है और अच्छा अनुभव भी होता है। शहरों में लोग ठंडा पानी पीने के लिए फ्रिज का उपयोग करते हैं। लेकिन फ्रिज का पानी पीने में भले ही ठंडा हो लेकिन इसके कई दुष्प्रभाव होते हैं जैसे कि पेट में गड़गड़ाहट और कब्ज जैसे प्रॉब्लम होने लगती हैं। वहीं यदि मटके का पानी पिया जाए जो प्राकृतिक रूप से ठंडा होता है। इस पानी को पीने से न केवल प्यासी बुझती है अपितु शरीर के लिए इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं है। गांव में मटके का पानी ही उपयोग किया जाता है। पुराने समय में लोग पानी को मटके में ही रखते थे मटके में रखने से पानी में उपस्थित पोषक तत्व का ह्रास नहीं होता है  अपितु पोषक तत्वों में वृद्धि होती है।

मटके के पानी में कौन- कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है?

(1)नाइट्रोजन

(2)फास्फोरस

(3)पोटाश

(4)कैल्शियम

(5)मैग्नीशियम

(6)सल्फ़र

(7)ज़िंक

(8)आयरन

(9)बोरान

(10)मैग्नीज़

(11)कॉपर

(12)मालीबेडनम

(13) क्लोरीन

मटके में पानी कैसे ठंडा होता है?

मटके में आपको लाखो छोटे-छोटे छिद्र देखने को मिल जाएंगे। इसी छिद्र से अंदर का पानी रिसता रहता है और मटके के ऊपरी सतह से रिसता हुआ पानी वाष्पीकृत होता रहता है। ध्यान देने वाली बात यह है कि वाष्पीकरण के लिए आवश्यक हीट मटके के अंदर एकत्र पानी से लिया जाता है जिसके परिणाम स्वरूप मटके का पानी गर्मी के मौसम में ठंडा रहता है।

Matke Ka Pani Pine Ke Fayde Kya Kya Hai?

Matke Ka Pani Pine Ke Fayde

(1) मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है

मटके का पानी मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है क्योंकि इसमें ऐसे मिनरल्स पाए जाते हैं जो वजन को नियंत्रित करने के अलावा पाचन क्रिया को सुदृढ़ करता है। वहीं यदि प्लास्टिक की बोतल का पानी सेवन किया जाए तो यह मेटाबॉलिज्म को मन्द कर देता है। जिससे अमूमन वजन बढ़ने की प्रॉब्लम होने लगती है। इसका कारण यह है कि प्लास्टिक के बोतल में बीपीए जैसे रसायनिक हानिकारक मिनरल्स पाए जाते हैं। एक विशेष बात यह भी है कि पानी का बोतल पर्यावरण के दृष्टिकोण से लाभप्रद भी नहीं है मटके की तुलना में।

(2) मिनरल्स

मटके के पानी में बोतल के पानी की तुलना में फास्फोरस कैल्शियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

(3) प्राकृतिक ठंडक का अहसास

मटके का पानी वाष्पीकरण के माध्यम से प्राकृतिक रूप से ठंडा होता है। जिसको पीने से आपको सर्दी जुकाम की प्रॉब्लम नहीं होगी। वहीं यदि आप फ्रिज का पानी पीते हैं तब आपको गले में खराश और गले में दर्द जैसी प्रॉब्लम होने लगती है।

(4) सनस्ट्रोक से रक्षा करता है

गर्मी के मौसम में सनस्ट्रोक एक आम प्रॉब्लम हो जाती है। जिसके परिणाम स्वरूप महिला से लेकर पुरुष, बच्चे तक परेशान रहते हैं। लेकिन यदि सन स्ट्रोक से बचना है मटके का पानी पीजिए क्योंकि मटके का पानी पीने से सनस्ट्रोक से लड़ने की शक्ति मिलती है।

(5) बॉडी को रिहाइड्रेट करता है

गर्मी के मौसम में डिहाइड्रेशन की प्रॉब्लम लगभग लगभग हर व्यक्तियों में देखी जाती है। इसका कारण है पर्याप्त मात्रा में पानी ना पीना और यदि फ्रिज का ठंडा पानी पीते भी हैं तो बॉडी इससे जल्दी रिहाइड्रेट नहीं होता है। लेकिन वहीं यदि मटके का पानी कोई भी व्यक्ति पीता है। उसको बॉडी तुरंत रिहाइड्रेट हो जाता है। जिसके परिणाम स्वरूप उसको जी मिचलाने और चक्कर आना और होंठ सूखना आदि समस्या से तुरंत राहत मिल जाती है।

(6) स्किन को ग्लो करता है

मटके का पानी पीने से स्किन ग्लो करता है। प्राकृतिक रूप से क्योंकि जब बॉडी रिहाइड्रेट होती है। तब हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से साइन करता है। इसके लिए किसी कॉस्मेटिक्स की आवश्यकता नहीं है। बस आप गर्मी के मौसम में मटके का पानी पीकर देखिए आपको खुद ब खुद परिणाम दिख जाएगा।

(7) खून की कमी को दूर करता है

शरीर में खून की कमी की बीमारी को एनीमिया कहते हैं। लेकिन आपको बता दें कि मटके के पानी में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है जिससे आपकी शरीर में खून की कमी कभी नहीं होगी।

(8) ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है

मटके का पानी पीने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। जिससे आपको भविष्य में हार्ट अटैक का खतरा कम रहेगा,आम व्यक्तियों के मुकाबले। इसका कारण यह है कि मटके का पानी पीने वाले व्यक्ति के शरीर के अंदर से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा मिलता है।

(9) रोग प्रतिरोधक क्षमता स्ट्रांग होता है

मटके का पानी पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी स्ट्रांग होता है जिससे आपको मौसमी बीमारी से सुरक्षा मिलेगी इसका कारण है, टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का बढ़ना।

(10) दर्द से राहत दिलाता है

मटके के पानी में anti-inflammatory और एंटीपायरेटिक का गुण पाया जाता है जो किसी भी प्रकार के जोड़ों का दर्द और सूजन से तत्कालिक लाभ प्रदान करता है।

Matke Ka Pani Pine Ke Fayde
मटके का पानी पीने का नुकसान कौन-कौन सा है?

(1) टाइफाइड

(2) कालरा

(3) डायरिया

(4) पेट में इन्फेक्शन

मटके का पानी पीने से पहले बरते कुछ सावधानियां:

(1) प्रतिदिन मटके में नया पानी भरे

(2) मटके के पानी को हमेशा ढक कर रखें

(3) मटके का पानी निकालते वक्त अपने हाथ को पानी में डुबाना नहीं है।

(4) मटके में लपेटे के कपड़े को साफ करते रहें।

निष्कर्ष:

मटके का पानी पीने के फायदे: मटके का पानी पीने से शरीर रिहाइड्रेट होता है और साथ ही साथ शरीर को आवश्यक मिनरल्स भी मिल जाते हैं जो शरीर के लिए आवश्यक होते हैं सबसे बड़ी विशेष बात यह है कि यह प्राकृतिक तरीके से ठंडा होता है।

Faq:
(1) मटके का पानी पीने के क्या-क्या फायदे हैं

मटके के पानी पीने से जोड़ों का दर्द दूर होता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है और बॉडी डिहाइड्रेट होता है और शरीर में खून की कमी नहीं होती है।

(2) मटके के पानी में क्या पाया जाता है

मटके की पानी में आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस और नाइट्रोजन और ऑक्सीजन जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं।

(3) क्या मटका पानी को क्षारीय बनाता है

मटका पानी को क्षारीय बनाता है क्योंकि मिट्टी क्षारीय प्रकृति की होती है और जल अम्लीय प्रकृति का होता है जिसके परिणाम स्वरूप मिट्टी जल में उपस्थित अम्ल को को बेअसर कर देता है।

(4) हमें मटके का पानी क्यों पीना चाहिए

हम सबको मटके का पानी ही पीना चाहिए क्योंकि मटके का पानी पीने से अर्थराइटिस की प्रॉब्लम से छुटकारा दिलाता है और हार्ट अटैक आने के खतरे को कम करता है।

(5) मटके का पानी कब पीना चाहिए

यदि आप इसका आयुर्वेदिक लाभ पाना चाहते हैं तो मटके का पानी आप सुबह के समय पीजिये। अन्यथा आप किसी भी समय जब आपको प्यास लगे मटके का पानी पी सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here