लौकी के तेल के फायदे

0
1777
Lauki ke Tel ke Fayde

जानिए लौकी तेल फायदे के विषय में जिस चरक ने अपनी प्रसिध्द आयुर्वेदिक पुस्तक चरक संहिता में अलाबु के नाम से उल्लेख किया है

Lauki ke Tel ke Fayde: मानव जब से अपने सभ्यता के क्रम में विकास करता गया। उसी क्रम में उसे लौकी का भी ज्ञान हो गया था। वैसे तो लौकी का उत्पत्ति वाला स्थान अफ्रीका महाद्वीप माना जाता है। लौकी का प्राचीनतम साक्ष्य के विषय में चर्चा करें तो उसका साक्ष्य सबसे पहले 7000 ईसा पूर्व से लेकर के 5500 ईसा पूर्व के बीच मेक्सिको के गुफाओं में मिलता है और इसके अलावा 4000 ईसा पूर्व से लेकर के 3500 ईसा पूर्व के बीच मिस्र के पिरामिड में भी इसका साक्ष्य मिलता है। मनुष्य लौकी का उपयोग मिठाइयों से ले करके सब्जी, हलवा और तेल बनाने में उपयोग करते रहे है। लौकी में प्रोटीन, विटामिंस, मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं इसे सुपरफूड की भी संज्ञा प्राप्त है। लौकी की तासीर ठंडी होती है। जिसके परिणाम स्वरूप इसका सेवन गर्मी के महीने में करना बहुत ही लाभप्रद माना जाता है। वात पित्त और कफ के बीच संतुलन भी बनाता है रही बात लौकी के तेल की लौकी के तेल के फायदे मधुमेह रोग से लेकर के बालों की समस्या को भी ठीक करता है।

अपनी अद्भुत गुणों से हैरतअंगेज करने वाला आखिरकार लौकी क्या है?

लौकी एक उष्णकटिबंधीय सब्जी है। जिसका वैज्ञानिक नाम लागेनेरिया सिसेरिया है। लौकी को भारत में घीया, पंपकिन और लउका के नाम से जाना जाता है। भारत में दो किस्म की लौकी पाई जाती है। सबसे पहले किस्म की लौकी लंबी लौकी और दूसरे किस्म की लौकी गोल लौकी दोनों में सिर्फ भौतिक अंतर है रासायनिक कोई अंतर नहीं है। इसमें दोनों में समान पोषक तत्व पाए जाते हैं। लौकी का पौधा झाड़ीय पौधा है। जिसके फूल पीले रंग के आते हैं और फल हरे रंग के आते हैं। फल के अंदर श्वेत रंग का गुदा पाया जाता है। हालांकि ध्यान देने वाली बात यह है कि प्राचीन काल से लेकर के आधुनिक काल की पूर्वार्ध तक लौकी के बर्तनों का उपयोग जैसे पानी का गिलास और अन्नागार और छोटे बर्तन बनाने में उपयोग होता रहा है। चरक संहिता में लौकी को अलाबू कहा गया है।

लौकी के तेल में पाया जाने वाला पोषक तत्व कौन- कौन सा है?

(1) सोडियम

(2) पोटेशियम

(3) जिंक

(4) मैग्नीज

(5) राइबोफ्लेविन

(6) विटामिन सी

(7) विटामिन ए

लौकी के तेल का उपयोग के परिणाम स्वरूप इससे होने वाले फायदे Lauki ke Tel ke Faydeक्या -क्या होते हैं?

(1) याददाश्त बढ़ती है

लौकी के तेल में ऐसे ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो लाल रक्त वाहिकाओं को जो सिकुड़ी रहती है। उसको फैला देते हैं। जिससे रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से होने लगता है। जिसके परिणाम स्वरूप हमारे न्यूरॉन्स एक्टिव होते हैं और इससे हमारी याददाश्त की क्षमता बढ़ती है।

Lauki ke Tel ke Fayde

(2) माइग्रेन की समस्या से निजात दिलाता है

लौकी में पाया जाने वाला एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाया जाता है जो माइग्रेन की समस्या से भी निजात दिलाता है। माइग्रेन एक ऐसी बीमारी होती है जिसमें सिर बहुत तेजी से दर्द करता है लेकिन लौकी का तेल उपयोग करने के बाद इससे माइग्रेन की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

(3) हेयर फाल को कम करता है

लौकी के तेल में विटामिन सी पाया जाता है जो बालों को नरिश करता है। जिसके परिणाम स्वरूप हमारे बाल झड़ते नहीं है इसका कारण है बालों को आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती रहती है और मसाज के परिणाम स्वरूप रोम छिद्र भी खुल जाते हैं। जिससे आवश्यक पोषक तत्वों का आवागमन सुचारू रूप से होने लगता है। और एक विशेष बात यह है कि सफेद बालों को भी काला करता है इतना ही नहीं यह काले बालों को सफेद बालों में परिवर्तित होने की प्रक्रिया में व्यवधान भी उत्पन्न करता है जिससे आपके बाल आजीवन काले बने रहे। इसकी तासीर बहुत ठंडी होती है जो आपके सर को आराम देती है जिससे आप चिंता मुक्त होते हैं। चिंता मुक्त होने से आपको नींद अच्छी आती है। जब नींद अच्छी आएगी तो अच्छे हार्मोन स्रावित होंगे तब डिहाईड्रो टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बनने की प्रक्रिया धीमी हो जाएगी जिससे हमारे बाल झड़ेंगे नहीं।

(4) कमर दर्द की भी बीमारी से निजात दिलाता है

सीधे तन कर खड़ा नहीं हो पाते हैं और सामने की ओर झुक नहीं पाते हैं। यह समस्या यदि कमर दर्द की वजह से है तो तब आप लौकी का तेल की मालिश करें। इससे कमर दर्द सही हो जाएगा क्योंकि लौकी के तेल में एंटीपायरेटिक का गुण भी पाया जाता है जो कमर दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

(5) हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है

लौकी का तेल यदि खाद्य पदार्थों में सेवन किया जाए तो इससे आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है जिसके परिणाम स्वरूप आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

Lauki ke Tel ke Fayde

(6) फेयरनेस क्रीम का भी काम करता है

यदि चेहरे पर काली झाइयां पड़ गई हो चेहरे पर सांवलापन हो। तब आप लौकी का तेल का उपयोग करिए। इससे आपकी सांवली त्वचा गोरी हो जाएगी। एक सर्वे में खुलासा हुआ था कि जिन औरतों ने एक महीना लगातार लौकी के तेल का उपयोग अपने चेहरे पर किया तो उन्होंने बताया कि इससे हमारे चेहरे की झाइयां खत्म हो गई और साथ ही साथ चेहरे पर जो दाग धब्बे थे वह भी खत्म हो गए और कील मुंहासे भी खत्म हो गए। इससे चेहरे पर चमक आ गई और इतना ही नहीं चेहरा चमकने भी लगा।

लौकी के तेल के उपयोग के परिणाम स्वरूप इससे होने वाले नुकसान क्या- क्या है?

लौकी के तेल का कोई भी दुष्प्रभाव नहीं है। यदि इसके तेल का उपयोग एक सीमा से अधिक नहीं किया जाता है तब यह काफी हद तक कारगर होता है। यदि इसका उपयोग आप ज्यादा करेंगे तब आपको इसका थोड़ा बहुत नुकसान देख जा सकता है जैसे कि एलर्जी से संबंधित और कब्ज गैस की भी समस्या भी दिख सकती है।

लौकी का तेल का उपयोग कैसे करें?

लौकी का तेल का उपयोग आप सिर में मालिश कर सकते हैं और इसके अलावा हाथ पैर में भी लगा सकते हैं और इसको खाद्य पदार्थों में भी उपयोग किया जा सकता है लेकिन एक सीमा से ज्यादा नहीं।

लौकी का तेल बनाने में प्रयुक्त होने वाली सामग्री कौन-कौन सी है?

(1)लौकी का रस

(2)नारियल का तेल

(3)तिल का तेल

लौकी का तेल बनाने की विधि क्या है?

लौकी का रस और नारियल का तेल और तिल का तेल आपस में मिलाकर के गैस पर गर्म करने के लिए रख दें और तब तक गर्म करें। जब तक लौकी का रस जल करके खत्म ना हो जाए और सिर्फ तिल का तेल और नारियल का तेल ही बचे और फिर ठंडा कर लीजिए और फिर एक बोतल में बंद करके रख दीजिए और अपने पूरे  दिनचर्या में इसे अपने सिर या शरीर के अन्य भागों में लगाइए।

निष्कर्ष :

Lauki ke Tel ke Fayde: चरक जैसे महान आयुर्वेदाचार्य ने भी चरक संहिता में लौकी का विस्तार से वर्णन किया है। इसके लाभ से संबंधित और उन्होंने लौकी को चरक संहिता में अलाबू का नाम दिया है। इतना ही नहीं लौकी का तेल में विटामिन सी विटामिन ए भी पाया जाता है जो हेयर फॉल को कंट्रोल भी करता है।

FAQ:
(1) लौकी का तेल कैसे लगाया जाता है?

लौकी का तेल रात में सोते समय सिर में लगाकर के 10 मिनट मसाज करिए। उसके बाद आप सो जाइए सुबह उठने के बाद किसी केमिकल रहित शैंपू से अपने बालों को धो लीजिए और सप्ताह में आपको ऐसा तीन बार ही करना है।

(2) लौकी के तेल की कीमत क्या है?

लौकी के तेल की कीमत अलग अलग ब्रांड की अलग अलग है। जैसे बजाज कंपनी की लौकी का तेल की कीमत 50ml ₹70 की है।

(3) लौकी के तेल की तासीर कैसी है?

लौकी के तेल की तासीर ठंडी होती है।

(4) लौकी के तेल में कौन कौन सा विटामिन पाया जाता है?

लौकी के तेल में विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here