Kejriwal recommends prizes: कोरोना महामारी के समय डॉक्टर्स के किए गए अच्छे कार्यों की सराहना करते हुए शुक्रवार को अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से उन सभी डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ और नर्सों को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित करने की गुजारिश की।

बता दें की दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पद्म पुरस्कारों के विषय में कहा कि दिल्ली सरकार ने अपनी ओर से सभी डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के नाम को आगे भेजने का फैसला लिया है। और इसके लिए वह आम जनता से भी राय की मांग कर रहे हैं।

इससे पहले भी दिल्ली सरकार ने मेडिकल स्टाफ का नाम पद्म पुरस्कारों के लिए भेजने का फैसला किया। और फिर मंगलवार को अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान किया कि दिल्ली सरकार इस साल डॉक्टरों के साथ स्वास्थ्य कर्मियों के नामों को पद्म पुरस्कार के लिए भेजेगी।

केंद्र सरकार सिफारिश करने को कहता है: Kejriwal recommends prizes

आपको बता दें की केंद्र हर साल, राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों से भारत के सर्वोच्च समान यानी पद्म पुरस्कारों के लिए अपने ओर के व्यक्तियों की सिफारिश करने को कहता है। और लोगों को उनके अदभुत व असाधारण सेवाओं के लिए इस पद से सम्मानित किया जाता है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते डेढ़ सालों से डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मी दिन रात अपनी जान को जोखिम में डाल रहे हैं और बिना अपनी परवाह किए कई ने तो लोगों की सेवा करते हुए अपनी जान भी गवा दी है। और यही वजह है कि केजरीवाल ने उनके लिए यह कदम उठाने का सोचा है।

हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा की जाती है। और इसके लिए बिना भेद भाव के उन हर व्यक्ति को सम्मानित किया जाता है जिन्होंने अपने राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों में शिक्षा, चिकित्सा, खेल सामाजिक कार्य, सिविल सेवा, विज्ञान और इंजीनियरिंग, व्यापार या सार्वजनिक मामले, आदि में कोई असाधारण काम किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा: सभी व्यक्ति इसके हकदार हैं

इस समान के हकदार वह सभी व्यक्ति हैं चाहें वह किसी भी जाति, स्थिति, लिंग या व्यवसाय, के हों। हालांकि डॉक्टरों व वैज्ञानिकों को छोड़ इस पुरुस्कार के लिए सार्वजनिक उपक्रमों के साथ कार्य करने वाले व्यक्ति शामिल नहीं हैं।

अरविंद केजरीवाल ने आगे सभी से कहा कि दिल्ली सरकार ही वह अकेली सरकार है, जिसने अपनी ओर से फ्रंटलाइन वर्कर्स वा उनके परिवार को सहायता राशि देने का ऐलान किया था।

जिसके अंतर्गत उन्हे एक करोड़ रूपए का सम्मान दिया गया। और केजरीवाल ने कहा कि जो भी लोगों की सेवा करते करते शाहिद हो गए देश उनका कर्जदार है और Kejriwal recommends prizes for doctors और उनकी सराहना व शुक्रियादा करने के लिए कोई शब्द नहीं हैं।

यह भी पढ़े: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविन ग्लोबल कॉन्क्लेव को किया सम्बोधित, कहा कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में प्रौद्योगिकी का अभिन्न अंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here