काला जीरा है औषधीय गुणों का खजाना, ये हैं इसके 6 सेहत लाभ

0
2683

दोस्तों आज मैं आपको काला जीरा के फायदे ( Kala Jeera Ke Fayde) क्या होते हैं? और साथ ही साथ काला जीरा के नुकसान क्या होते हैं? और काला जीरा होता क्या है? दोस्तों पुराने समय से भारत में काला जीरा का उपयोग होता चला आ रहा है। यह कई बीमारियों को ठीक करता है। क्योंकि इसके अंदर ऐसे- ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को ना केवल मजबूत करता है बल्कि बाहर से आए वायरस के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रणाली को लड़ने के लिए मजबूत भी बनाता है। आयुर्वेद में काला जीरा के विषय में बहुत चर्चा है। और साथ ही साथ सुश्रुत संहिता में भी काला जीरा को ब्लैक डायमंड की संज्ञा दी गई है। और विशेषकर बात यह है कि भारत में इसकी महत्ता को देखते हुए इसके उत्पादन को बढ़ाने के लिए कृषि मंत्रालय ने जो सीमांत एवं लघु किसान हैं उनको काला जीरा की उन्नत बीज उपलब्ध करा रही है जिससे वह इसका उत्पादन करके एक अच्छी खासी रकम अर्जित कर सके ।आपको बता दें कि काला जीरा की अंतरराष्ट्रीय मार्केट में दाम ₹15 प्रति किलो है।

काला जीरा क्या है? (Kala Jeera Kya Hota Hai)

आयुर्वेद के अनुसार काला जीरा एक औषधि पौधा है जिसमें एंटीबैक्टीरियल और साथ ही साथ एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं यह हमारे शरीर के लिए किसी अचूक रामबाण से कम नहीं है। क्योंकि यह पोषण तत्वों का खजाना है। और साथ ही साथ शरीर के सारे रोगों का इलाज भी है तो आइए चलिए जानते हैं कि काला जीरा का फायदा क्या होता है? ध्यान देने योग्य बात यह है कि काला जीरा रनूनकुलेसिकुल का पौधा है।

काला जीरा के सेवन से हमारे शरीर को क्या फायदा मिलता है? (Kala Jeera Ke Sevan Se Hamare Sarir Ko Kya Fayde Hain | Kala Jeera Ke Fayde)

यदि हम प्रतिदिन काला जीरा का सेवन करते हैं तो हमें निम्नलिखित फायदा मिलता है।

(1) वेट लॉस करने में सहायक 

यदि जो व्यक्ति मोटा है और साथ ही साथ बेली फैट को बर्न करना चाहता है तो इसके लिए आप प्रतिदिन काला जीरा का सेवन कर सकते हैं ।यह आपके मेटाबॉलिज्म सिस्टम को ठीक करता है ।जिससे आपकी एकाएक आपकी पेट की चर्बी कम होने लगती है ।ध्यान देने योग्य बात यह है कि यदि आप वेट लॉस करना चाहते हैं इसके लिए आपको प्रतिदिन काले जीरे को पानी में उबालकर उसको छानकर पानी को पीजिए।कुछ दिनों बाद आपको यह महसूस होने लगेगा कि आपका वजन कम होने लगा लगा है।

(2) प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाता है मजबूत

काला जीरा प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत भी बनाता है अर्थात यदि आप हर समय किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं। तब आपको काले जीरे का सेवन करना चाहिए ।क्योंकि काला जीरा में नेचुरल इंटरफेरॉन और साथ ही साथ रोग प्रतिरोधक सेल्स पाए जाते हैं। जिससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली स्ट्रांग हो जाएगी और साथ ही साथ आपको असमय कोई भी बीमारी नहीं होगी।

(3) पेट की समस्या को करें छूमंतर

जी हां काला जीरा आपकी पेट की समस्या को छूमंतर कर सकता क्योंकि जैसे आपको पेट फूलने की बीमारी पेट में कीड़ा हो गया है और साथ ही साथ आप को दस्त होने की समस्या है।  तब आप प्रतिदिन काले जीरे का सेवन करिए ।आपको पेट की हर समस्या से तुरंत राहत मिल जाएगी और भविष्य में आपको ऐसी कोई समस्या भी नहीं होगी।

(4) सर्दी जुखाम को ठीक करने में भी सहायक है

यदि आपको असमय सर्दी जुखाम हो जाता है ।तब आप काले जीरे का सेवन कर सकते हैं ।क्योंकि इससे आपकी अस्थमा की बीमारी और साथ ही साथ काली खांसी और बोगाइटिस और साथ ही साथ जो एलर्जी की प्रॉब्लम है वह सब दूर हो जाएगी और आपको भविष्य में भी सर्दी जुखाम की समस्या नहीं होगी यदि आप प्रतिदिन काले जीरे का सेवन करते हैं तो।

(5) माइग्रेन से राहत

यदि आपको माइग्रेन की समस्या है तब आप काला जीरा का तेल अपने सिर में मालिश करिए इसलिए आप देखेंगे कि आपका कुछ दिन में ही माइग्रेन की समस्या दूर हो जाएगी।

(6) एंटीसेप्टिक का भी काम करता है

काला जीरा एंटीसेप्टिक का भी काम करता है अर्थात यदि आपको कोई घाव हो गया है ।आप उस घाव पर काला जीरा का लेप लगा सकते हैं इससे आपके घांव पर जो बैक्टीरिया हैं ।वह बैक्टीरिया विनष्ट हो जाएगा और आपका घाव जल्दी से भर जाएगा और साथ ही साथ यदि आपको कोई चोट लगती है उस चोट के घाव को ढूंढने के लिए आप काला जीरा का उपयोग कर सकते हैं ध्यान देने योग्य बात यह है कि काला जीरा औषधि गुणों से भरपूर जरूर है लेकिन यह जरूरी नहीं है कि आप के घाव को भर ही दें।

काला जीरा के सेवन से हमारे शरीर को क्या नुकसान होता है? (Kala Jeera Ke Sevan Se Hamare Sarir Ko Kya Nuksan Hota Hai)

काला जीरा का तासीर गर्म होता है इसलिए गर्मियों के समय में इसका सेवन ज्यादा मात्रा में करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक नहीं है। यदि आप इसका सेवन ज्यादा मात्रा करते हैं तब आपको पेट दर्द की समस्या और साथ ही साथ जी घबराने की समस्या हो सकती है। इसलिए आप गर्मियों की समय में इसका सेवन किसी चिकित्सा परामर्श या आयुर्वेदाचार्य के अनुसार ही करिए ।और साथ ही साथ ठंड में इसका सेवन आप बेहिचक  कर सकते हैं।

काला जीरा में पाए जाने वाले पोषक तत्व कौन कौन से हैं? (Kala Jeera Me Kon Kon Se Poshak Tatva Hote Hain)

(1) आयरन

(2) कापर

(3) कैल्शियम

(4) पोटैशियम

(5) कार्बोहाइड्रेट

(6) फैट

(7) ओमेगा -6(अल्फा लिनोलिक अम्ल)

(8) ओमेगा-3(लिनोलिक अम्ल)

काला जीरा का सेवन कैसे करें? (Kala Jeera Ka Sevan Kaise Karen)

यदि आप काला जीरा का सेवन करना चाहते हैं तो आप काला जीरा का सेवन चूर्ण के रूप में और साथ ही साथ तेल के रूप में और सब्जियों में भी इसका उपयोग कर सकते हैं ।इससे सब्जी का स्वाद भी बढ़ जाएगा और साथ ही साथ आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।

निष्कर्ष

काला जीरा रनूनकुलेसिकुल का पौधा है जो औषधि गुणों से भरा हुआ है। यह वजन कम करने और साथ ही साथ सर्दी जुकाम को ठीक करने और माइग्रेन से राहत दिलाने और एंटीसेप्टिक का काम करता है। इसमें आयरन कैल्शियम और साथ ही साथ कॉपर पोटेशियम और कार्बोहाइड्रेट जैसे गुण भी पाए जाते हैं।

सामान्य प्रश्न

(1) काला जीरा का अन्य नाम क्या है?

काला जीरा का एक और नाम है कलौंजी

(2) काला जीरा का सेवन किस समय करना चाहिए

काले जीरे का सेवन आप सुबह के समय करिए। क्योंकि इसकी तासीर गर्म रहती है। इसलिए यदि इसका सुबह के समय सेवन करेंगे। सुबह का मौसम ठंडा रहता है तब आपको इसका लाभ पूरा मिल पाएगा। यदि आप इसका सेवन दोपहर के समय करते हैं तो परिणाम प्रतिकूल भी हो सकता है। ध्यान देने योग्य बात यह है कि तरबूज की तरह इसकी तासीर ठंडी नही होती है जिससे इसका सेवन दोपहर के समय किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here