Women’s Hockey team in Olympic: भारतीय महिला हॉकी टीम ने ओलंपिक्स में बेहद ही यादगार प्रदर्शन करते हुए इतिहास रच दिया।

आपको बता दें की यह भारत के इतिहास में पहली बार हुआ की महिला हॉकी टीम ने ओलंपिक के सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली। सोमवार को भारत ने वर्ल्ड नंबर-4 ऑस्ट्रेलिया को क्वार्टर फाइनल में 1-0 से मात दी।

भारतीय महिला हॉकी टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन – Women’s Hockey team in Olympic

बता दें की इस जीत की अहम नायिका भारतीय टीम को गोलकीपर सविता पूनिया हैं, जिन्होंने पूरे 9 शानदार बचाव कि। और भारत के लिए एकमात्र और विनिंग गोल गुरजीत कौर ने खेल के 22वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर हासिल किया।

बता दें की भारत का सामना सेमीफाइनल में यानी 4 अगस्त को अर्जेंटीना से होने वाला है, जिस टीम ने जर्मनी को 3-0 से मात दे कर सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई है। बता दें की भारतीय पुरुष टीम भी पहले ही सेमीफाइनल में अपनी जगह बना चुकी है।

बता दें की दूसरे क्वार्टर में भारत के विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा शुरुआती पांच मिनट में काफी भारी साबित हुआ। और इस बीच ऑस्ट्रेलिया को पूरे तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले थे, लेकिन भारतीय गोलकीपर के साथ ही साथ डिफेंडरों ने इस मौके को पूरी तरह नाकाम साबित कर दिया।

इसके बाद भारतीय टीम को खेल के 22वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला, जिसके बाद ड्रैग फ्लिकर गुरजीत कौर ने इसे गोल में तब्दील कर दिया और भारत को 1-0 का बढ़त दिया।

ऑस्ट्रेलिया को तीसरे व चौथे क्वार्टर में कुल छह पेनल्टी कॉर्नर मिले, हालांकि भारतीय गोलकीपर ने उनके मौकों को फिर से नाकाम साबित कर दिया। 

तीसरे क्वार्टर के 43वें और 44वें मिनट में भारतीय टीम को भी स्कोर करने का अवसर मिला था। मगर नवनीत कौर और रानी रामपाल इस मौके में कोई गोल हासिल नहीं कर पाई।

बता दें की इससे पहले ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मॉस्को में 1980 के खेलों में दिखा था। उस दौरान भारतीय टीम ने छह टीमों में चौथा स्थान हासिल किया था।

और अब टोक्यो ओलंपिक में भी भारतीय महिला टीम ने चौथे को तो सुनिश्चित कर ही लिया है। और सेमीफाइनल में अगर टीम अर्जेंटीना को हराती है तो पहली बार ओलंपिक में पदक जीत एक नया इतिहास रच देंगी।

बता दें की भारतीय महिला टीम को ग्रप-ए में जर्मनी, नीदरलैंड, ब्रिटेन, साउथ अफ्रीका और आयरलैंड के साथ रखा गया था। और ग्रुप-बी में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जापान, स्पेन और चीन की टीमें थीं।

इन सभी टीमों ने एक-दूसरे का सामना किया और दोनों ग्रुप के शीर्ष चार टीमों ने क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह बनाई। जिसमे भारत की टीम अपने ग्रुप में से दो जीत के साथ ही साथ तीन हार के बाद चौथे स्थान पर थी।

टोक्यो में भारतीय महिला हॉकी टीम का अभियान नीदरलैंड, व जर्मनी के साथ ही साथ गत चैम्पियन ब्रिटेन से लगातार तीन मैचों में हार का सामना करने से शुरू हुआ । Women’s Hockey team in Olympic, लेकिन टीम ने बेहद ही बेहतरीन वापसी करते हुए अपने से अधिक रैंकिंग वाली टीम आयरलैंड को 1-0 से हराने के बाद साउथ अफ्रीका की टीम को 4-3 से शिकस्त दिया और खुद को इस दौड़ में बनाए रखा।

Women’s Hockey team in Olympic, बता दें की भारत का अंतिम आठ में नाम ब्रिटेन के पूल-ए के आखिरी मैच में आयरलैंड को 2-0 से मात देने के बाद सुनिश्चित हुआ।

ये भी पढ़े: भारतीय टीम की बढ़ी मुसीबतें, क्रुनाल पांड्या संग अब दो और खिलाड़ी हुए कोरोना पॉजिटिव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here