Hockey team won Bronze: भारतीय मेन्स हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में पूरे चार दशकों बाद मेडल हासिल कर इतिहास रच दिया है।

बता दें की भारतीय टीम ने 5-4 से जर्मनी को हार का रास्ता दिखाया और कांस्य पदक अपने नाम किया। भारत की ओर से सिमरनजीत सिंह ने इस जीत मे 2 गोल समर्पित किए।

वहीं शुरुआत मे टीम इंडिया की का प्रदर्शन थोड़ा खराब रहा लेकिन फिर उन्होंने लगातार गोल हासिल कर खेल मे वापसी की। हालांकि जर्मनी ने इसके बाद दो और गोल कर खेल मे भारत पर एक बार फिर दबाव बना दिया। लेकिन मात्र दो मिनट मे टीम इंडिया ने जबरदस्त वापसी की और 5-4 की बढ़त हासिल की।

भारतीय टीम को खेल के 5वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर भी मिला था,हालांकि रुपिंदर पाल सिंह यह गोल नहीं कर पाए। उसके बाद वह थोड़े नाखुश दिखे।

बता दें कि पहले क्वार्टर में जर्मनी ने काफी आक्रमक प्रदर्शन किया और टीम इंडिया पर हावी रहा। Hockey team won Bronze, उन्होंने पहले मिनट मे ही गोल कर बढ़त हासिल कर लिया था। और उन्हें पहले क्वार्टर मे दो पेनल्टी कॉर्नर मिले जिसका भारत ने बहुत ही शानदार बचाव किया। इस मैच के हीरो श्रीजेश की ने लगातार दो अच्छे बचाव किए।

दूसरे क्वार्टर मे भारत ने न सिर्फ गजब का गेम दिखाया बल्कि लगातार गोल हासिल कर जर्मनी के उपर दबाव भी बनाया। और सिमरनजीत सिंह ने हॉकी प्रेमियों को लगातार गोल कर खुश कर दिया।

Indian-Hockey-team-won-bronze-medal-created-history-by-winning-the-medal

इस मैच मे एक समय ऐसा भी आया था जब जर्मनी 3-1 से आगे था। हालांकि फिर टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जर्मनी को अपना आक्रमक रूप दिखाया।

अंतिम क्षणों मे गोलकीपर श्रीजेश ने जर्मनी के गोल्स को रोक कर उन्हें बढ़त लेने का मौका ही नहीं दिया। Hockey team won Bronze, उन्होंने कई पेनाल्टी स्ट्राक्स भी बड़ी आसानी से रोक दी। पहला गोल सिमरनजीत ने हासिल किया जो इस ओलंपिक मे उनका दूसरा गोल था, इसके बाद हार्दिक सिंह और हरमनप्रीत ने दूसरा और तीसरा गोल किया।

रुपिंदर पाल सिंह ने चौथा गोल कर बराबरी की जिसके बाद आखिर मे फिर एक बार सिमरनजीत ने पांचवा गोल दाग जीत की ओर आगे बढ़े। और गोलकीपर श्रीजेश ने जर्मनी का बचाव कर जीत का झंडा गाड़ दिया, और कांस्य पदक भारतीय टीम की झोली मे आ गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here