इस होली पर बनाइये ऐसा लजीज रेसिपी जिससे बच्चो और बुजुर्गों का मन ललचा जाए

0
3179
holi-ki-recipe-in-hindi

Holi ki Recipe: होली का पर्व दिन प्रति दिन नजदीक आता दिखाई दे रहा है। और इस खुशी में बच्चे हर्षोल्लास से भर पड़े हैं। क्योंकि बच्चों ने जब से कोरोना वायरस आया है तब से सही ढंग से होली का आनंद नहीं उठाया है। इसी के परिणाम स्वरूप इस बार की होली बच्चे और साथ ही साथ वयस्क व्यक्तियों के जीवन में एक सकारात्मक रंग छोड़ जाएगा। जिसके परिणाम स्वरूप जीवन खुशहाली से झूम उठेगा।

अब बात आती है कि होली में ऐसा क्या लजीज व्यंजन बनाए? जिससे बच्चे को अच्छा भी लगे और साथ ही साथ उनके स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से उनके लिए लाभ भी हो। क्योंकि बच्चे कोई भी चीज खाने से गुरेज नहीं करते हैं।

यदि उन्हें चटकारा, रसेदार और स्वादिष्ट चीजों का कंबीनेशन दिया जाए। जिससे उनका स्वास्थ्य भी अच्छा रहे और होली के पर्व का अच्छा आनंद भी उठा सके। ध्यान देने योग्य बात यह है कि जो भी खाने की रेसिपी और होली रंग हो केमिकल मुक्त हो अर्थात उस में रसायन ना हो जिससे कोई हानि ना हो।

होली के पर्व में क्या – क्या  रेसिपी बनाये? (Holi ki Recipe)

होली में आप जो भी रेसिपी बनाइये वह रेसिपी बच्चों और बुजुर्गों और साथ ही साथ महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो। ऐसा ना हो कि खाने के बाद उनकी पेट में कब्ज गैस की समस्या हो और साथ ही साथ फूड प्वाइजनिंग की भी समस्या भी हो। इस बात को हमें ध्यान रखना है, आइए जानते हैं कि होली में क्या- क्या रेसिपी बनाएं?

चन्द्रकला गुजिया (Chandrakala Gujhiya) स्वाद में इसका कोई जवाब नही

holi-ki-recipe-in-hindi
  • चंद्रकला गुजिया यह गुजिया अर्धचंद्र कार में होता है। इसलिए इस गुजिया का नामकरण चंद्रकला गुजिया किया गया है। यह गुजिया होली के पर्व में या दीपावली के पर्व में उत्तर भारत में जरूर बनता है। क्योंकि उत्तर भारत के लोग इस गुजिया को बहुत ही चाव के साथ खाते हैं। क्योंकि यह गुजिया स्वास्थ्य के लिए ना तो हानिकारक है। बल्कि स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। क्योंकि इस गुजिया में ड्राई फ्रूट्स, दूध और साथ ही साथ खोवा का उपयोग किया जाता है जो एक स्वास्थ्यवर्धक प्रोडक्ट है।

इमारती ( Imarti ) को देखकर मुंह मे पानी आ जाये

  • इमरती ऐसा खाद्य पदार्थ है, जिसका आकार टेढ़ा मेढ़ा और साथ ही साथ स्वादिष्ट में इसका कोई जवाब ही नहीं है। इमरती जलेबी की तरह ही दिखने वाला एक स्वादिष्ट व्यंजन है। इस व्यंजन को उत्तर भारत और पश्चिम भारत और दक्षिण भारत में विशेष करके बनाया जाता है ।क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है।
  • इमरती में फाइबर और साथ ही साथ विटामिन k और विटामिन e पाया जाता है। और इसमें सुक्रोज भी पाया जाता है। हालांकि जिस व्यक्ति को डायबिटीज और स्टोन प्रॉब्लम है, वह इमरती को  ज्यादा ना खाएं। लेकिन बच्चे इसी इमरती को बड़े चाव के साथ खा सकते हैं।

घेवर मिठाई (Ghewar Mithae) जो दिल को छू जाए

  • घेवर मिठाई राजस्थान की आन-बान-शान भी है। यह मिठाई राजस्थान के हर एक घर- घर में बनाई जाने वाली मिठाई है। क्योंकि इस मिठाई की विशेषता यह है कि यह अपने अनूठे स्वाद के लिए जाना जाता है। और यह मीठा स्वास्थ्यवर्धक भी है। क्योंकि राजस्थान में इस मीठा को प्राचीन काल से ही बनाया जा रहा है। हालांकि उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में और साथ ही साथ मध्य प्रदेश और बिहार में इस मीठे का चलन नहीं है लेकिन आपको बता दे। इस मीठे को कोई भी व्यक्ति चाहे वह बुजुर्ग हो या बच्चा हो या महिला हो वह बिना किसी भी झिझक के खा सकता है।

मावा – पेड़े (Mewa ke Pede) बहुत ही लजीज व्यंजन है

  • यदि आप होली पर एक एक स्वास्थ्य और स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ बनाना चाहते हैं, तो आप मावा- पेड़े को बना सकते हैं। क्योंकि मावा- पेड़े में प्रोटीन फैट और विटामिन का मात्रा पाया जाता है। इस मावा पेड़ों को बनाने में दूध और साथ ही साथ इलायची और ड्राई फ्रूट का उपयोग होता है। इन सब का सेवन हमारे शरीर चाहिए बहुत ही लाभकारी है ।और मावा- पेड़ा बच्चे को अपनी ओर बहुत जल्दी ही आकर्षित कर लेता है। क्योंकि इसकी बनावट और स्वादिष्ट का कोई तोड़ नही हैं।
  • यदि आप होली पर एक एक स्वास्थ्य और स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ बनाना चाहते हैं, तो आप मावा- पेड़े को बना सकते हैं। क्योंकि मावा- पेड़े में प्रोटीन फैट और विटामिन का मात्रा पाया जाता है। इस मावा पेड़ों को बनाने में दूध और साथ ही साथ इलायची और ड्राई फ्रूट का उपयोग होता है। इन सब का सेवन हमारे शरीर चाहिए बहुत ही लाभकारी है ।और मावा- पेड़ा बच्चे को अपनी ओर बहुत जल्दी ही आकर्षित कर लेता है। क्योंकि इसकी बनावट और स्वादिष्ट का कोई तोड़ नही हैं।

काजू का खीर (Kaju ka kheer) एक बार खाये तो बार-बार मन करे 

holi-ki-recipe-in-hindi
  • इस होली के पर्व पर यदि आप कोई लजीज व्यंजन बनाना चाहते हैं तो उस लजीज व्यंजन की सूची में काजू का खीर जरूर ही शामिल करें ।क्योंकि यह हमारे सेहत के लिए बहुत ही बेनिफिट है और साथ ही साथ अनूठा स्वाद भी है।

सेहत से भरपूर पंजाबी पालक पनीर (Panjabi Palak Paneer)

  • यदि होली पर आप कोई फूड बनाना चाहते हैं तो घर पर आप अवश्य ही पंजाब का पालक पनीर बनाए। क्योंकि पंजाब का पालक पनीर देखने में सुंदर है और खाने में भी इसका कोई जवाब नहीं है। यदि एक बार आप पालक पनीर खाए तो आपका बार-बार मन करेगा खाने के लिए पालक पनीर। यह पालक पनीर बहुत ही स्वास्थ्यवर्धक है क्योंकि इस पालक पनीर में प्रोटीन विटामिन ए और विटामिन सी का खजाना छुपा हुआ है। जो हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करेगा।

मोतीचूर के लड्डू (Motichur ke Laddu) में छुपा है सेहत का राज

holi-ki-recipe-in-hindi
  • यदि इस होली पर कोई लजीज व्यंजन बनाना चाहते हैं तो इस लजीज व्यंजन की सूची में मोतीचूर का लड्डू अवश्य ही शामिल करें। क्योंकि मोतीचूर का लड्डू खाने में स्वादिष्ट भी है। और हमारे स्वास्थ्य लिए हानिकारक भी नहीं है। क्योंकि यह लड्डू बेसन से तैयार किया जाता है। बेसन में प्रोटीन और विटामिन और मिनरल्स की अधिकता होती है।

निष्कर्ष :

आज मैंने इस आर्टीकल में निम्नलिखित जानकारी दी हैं।

  1. होली के रेसिपी का इंट्रोडक्शन
  2. होली के पर्व में क्या – क्या  रेसिपी बनाये ?
  3. चन्द्रकला गुजिया स्वाद में इसका कोई जवाब नही
  4. इमारती को देखकर मुंह मे पानी आ जाये
  5. घेवर मिठाई जो दिल को छू जाए
  6. मावा – पेड़े बहुत ही लजीज व्यंजन है
  7. काजू का खीर एक बार खाएंगे तो बार – बार मन करे 
  8. सेहत से भरपूर पंजाब पालक पनीर
  9. मोतीचूर के लड्डू में छुपा है सेहत का राज

आदि जानकारी को विस्तार से बताया है। यदि Holi Ki Recipe, आर्टीकल आपको अच्छा लगा है तो इस आर्टीकल को अपने फ्रेंड या रिलेटिव को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक मैसेंजर और साथ ही साथ ऐप और लिंकडइन और टेलीग्राम और फेसबुक के ग्रुप पर और व्हाट्सएप पर जरूर शेयर करें। जिससे वह भी इस आर्टिकल को पढ़कर लाभ उठा सकें। और भविष्य में मुझे ऐसे और आर्टीकल लाने के लिए मोटिवेशन भी मिले।

यह भी पढ़े : होलिका दहन की सम्पूर्ण पूजा विधि और शुभ मुहूर्त, इस तरह से करे पूजा दूर होगी हर समस्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here