गर्मी के मौसम में बेल के रस का सेवन करने से मिलती है कई बीमारियों से मुक्ति

0
2993
bel ke ras ke fayde

Bel Ke Ras Ke Fayde: गर्मी का मौसम आ गया है लोग पसीने से तरबतर होने लगे हैं। क्योंकि इसका कारण है हमारे शरीर का तापमान बाहर के तापमान से मैच नहीं करता है। तो हमें ठंडी या गर्मी का एहसास होता है। अब गर्मी का मौसम आ गया है बहुत सारे लोग गर्मी में ठंडक का अहसास लेने के लिए कोका कोला, थम्सअप और स्प्राइट और साथ ही साथ माजा जैसे पेय पदार्थ पी रहे हैं। जिनसे हमें ठंडक तो अल्पकाल के लिए मिल जाता है। लेकिन हमारे शरीर के लिए यह बहुत हानिकारक है। आज मैं आपको एक ऐसा देसी नुक्सा बताने वाला हूं। यदि आप उसका उपयोग करते हैं ना केवल आपके शरीर को ठंडक मिलेगा बल्कि आप गर्मी में कई बीमारियों से मुक्त हो जाएंगे जैसे लू लगने से दस्त और डायरिया और साथ ही साथ कब्ज और गैस की भी समस्या भी नहीं रहेगी। उस फल का नाम है बेल। बेल आमतौर पर आपको हर जगह मिल जाएगा। विशेष करके ग्रामीण समाज में क्योंकि ग्रामीण समाज में इसका उपयोग मुरब्बा और साथ ही साथ इसकी फल को खाने में और इसका रस बनाकर पीने में प्राचीन काल से हो रहा है। अभी भी उत्तर भारत के कुछ ग्रामीण समाज में शादी के अवसर पर बेल के शरबत का उपयोग किया जाता है।

बेल का रस होता क्या है? (Bel Ke Ras Kya Hota Hai)

बेल एक ऐसा औषधीय पौधा है जिसके फल के अलावा उसकी शाखाएं उसकी तने का उपयोग आयुर्वेद में वर्षों से होता चला आ रहा है। और ध्यान देने योग्य बात यह है कि महाशिवरात्रि के अवसर पर भगवान शंकर के शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाया जाता है। जो बेलपत्र की महत्ता को दर्शाता है। बेल का जो फल होता है ऊपर से कठोर होता है अंदर गुदा होता है गुदे के अंदर बीज होता है। उस गूदे से ही शरबत बनाया जाता है या रस मनाया जाता है। रस बनाने के लिए पानी और साथ ही साथ चीनी और बर्फ की सिल्ली का उपयोग किया जाता है।

बेल के रस में कौन-कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है? (Bel Ke Ras Me Kon-Kon Sa Poshak Tatva Hai)

(1) प्रोटीन

(2) बीटा कैरोटीन

(3) थायमीन

(4) राइबोफ्लेविन

(5) विटामिन सी

(6) कैल्शियम

(7) फाइबर 

(8) आयरन

बेल के रस को पीने से क्या फायदा होता है? (Bel Ke Ras Pine Se Kya Fayda Hota Hai | Bel Ke Ras Ke Fayde)

यदि आप गर्मी के मौसम में नियमित बेल का रस पीते हैं तो आपको निम्नलिखित फायदा मिलता है।

(1) हार्ट की बीमारियों से राहत

यदि आप नियमित बेल की रस और घी मिलाकर सेवन करते हैं इससे आपके हार्ट से संबंधित जितनी भी बीमारियां हैं जैaeसे हार्ट अटैक और साथ ही साथ ब्लड प्रेशर का हाई और लो हो जाना। यह सब बीमारियां दूर हो जाएंगे और साथ ही साथ आपका शुगर लेवल भी मेंटेन रहेगा अर्थात शुगर लेवल नियंत्रित रहेगा।

(2) पेट के गैस को दूर करने में सहायक

गर्मी के मौसम में पेट में गैस और कब्ज की समस्या होना लाजमी है। यदि आप चाहते हैं कि आप गर्मी के मौसम में गैस और कब्ज की समस्या ना हो तो इसके लिए आप नियमित एक गिलास बेल के शरबत का सेवन करिए। इससे आपको गैस और कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी ।लेकिन ध्यान देने योग्य बात यह है कि इसका उपयोग औषधि के रूप में नहीं करना है बल्कि इसका उपयोग अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाकर करिए। क्योंकि यह जरूरी नहीं है कि आपको कब्ज और गैस की समस्या हो जाए तब आप बेल के रस को पी लेते है तो आराम हो जाएगा ऐसा नहीं है। बेल का रस आपके  पेट में कब्ज गैस की  समस्या नहीं होने देगा बस यही काम करेगा।

(3) कोलेस्ट्रॉल लेवल को मेंटेन करने में सहायक

बेल का रस कोलेस्ट्रॉल लेवल को मेंटेन करने में भी सहायक है इसका कारण है इसमें पाया जाने वाला अनेक पोषक तत्व जो कोलेस्ट्रॉल को संतुलित करके रखता है।

(4) लू और दस्त से राहत

यदि बेल के रस मैं गुड़ को मिलाकर इसका सेवन किया जाए तो हमें लू और दस्त नहीं लगेगी ।क्योंकि बेल के रस कस तासीर ठंडी होती है।हमारे शरीर में निर्जलीकरण  की समस्या नहीं होने देता है ।जिसके परिणाम स्वरूप लू  और दस्त से  बचे रहते हैं।

(5) शरीर को ठंडक देने में सहायक

बेल के रस में एंटी बैक्टीरियल और साथ ही साथ एंटी इन्फ्लेमेटरी जैसे गुण पाए जाते हैं। और इसमें बीटा कैरोटीन पाया जाता है  जो न केवल लिवर को स्वस्थ रखता है अपितु पूरे शरीर को स्वस्थ रखता है और साथ ही साथ हमारे शरीर को ठंडक भी प्रदान करता है।

(6) स्तनपान कराने वाली मां के लिए लाभदायक

जो मां गर्मी  के दिनों में बेल के रस का सेवन करती हैं तो वह ज्यादा मात्रा में मिल्क प्रोड्यूस करने में सक्षम हो जाती हैं ।क्योंकि इसमें एंटीमाइक्रोबियल्स और कई ऐसे एलिमेंट पाए जाते है जो दुग्ध हार्मोन के स्रावित होने की दर को बढ़ा देते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को प्रोड्यूस करने में अपनी सहायक की भूमिका निभाते हैं।

(6) कैंसर से बचाव

यदि बेल के रस के साथ गुनगुना पानी और शहद मिलाकर सेवन किया जाए तो हमें ताउम्र तक कैंसर नहीं होगा क्योंकि इसमें anti-inflammatory और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं।

बेल के रस के नुकसान क्या है? (Bel Ke Ras Ke Nuksan Kya Hai)

बेल के रस के कोई दुष्प्रभाव नहीं है। हालांकि थायराइड के  रोगी और साथ ही साथ गर्भवती महिलाएं यदि कर रस का सेवन करना चाहती हैं। उसका सेवन किसी डॉक्टर के सानिध्य में करें अन्यथा यदि अपनी मर्जी से उसका सेवन करती हैं तो उनको तरह तरह की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं जैसे कि बीपी का हाई लो होना और साथ ही साथ  ह्रदय गति का असामान्य हो जाना।

निष्कर्ष

बेल के जूस मेंएंटी इन्फ्लामेट्री, एंटीमाइक्रोबियल्स और साथ ही साथ एंटीबैक्टीरियल जैसे गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। और साथ ही साथ इसमें सूक्ष्म पोषक तत्वों से लेकर प्रोटीन तक भी पाया जाता है और विटामिन भी पाया जाता है।

सामान्य प्रश्न

(1) बेल के रस के फायदे क्या है?

बेल का रस कब्ज गैस एसिडिटी और साथ ही साथ लू और दस्त की बीमारी से दूर रखता है यह इसका नियमित सेवन किया जाए।

(2) बेल की रस का सेवन किस समय करना उचित है?

बेल के रस की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका सेवन गर्मियों में दोपहर के समय करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: जानें खीरे और अनानास से एक हेल्दी और टेस्टी स्मूदी बनाने की रेसिपी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here