अशोक के पत्ते के फायदे

0
1423
Ashok ke Patte ke Fayde

Ashok ke Patte ke Fayde: प्रसिद्ध आयुर्वेदाचार्य आचार्य बालकृष्णा बताते हैं कि अशोक के पत्ते में बहुत सारे ऐसे मिनरल्स पाए जाते हैं। जो शरीर के हर हिस्से की बीमारियों में काफी लाभकारी साबित हुआ है। जिस भी व्यक्ति को कील मुंहासे और बदहजमी, एलर्जी, वायरल इनफेक्शन की प्रॉब्लम है। उन्हें इनसे निजात पाने के लिए अशोक के पत्ते का उपयोग करना चाहिए। वैदिक काल में ऋषि मुनि भी अपने चेहरे को अशोक की पत्ते को पानी में उबालकर के उस उबले हुए पानी से अपने मुख को धुलते थे। जिसके परिणाम स्वरूप उनका चेहरे पर कांति आ जाती थी चेहरे पर से डेड स्किन रिमूव हो जाते थे।

अशोक के पत्ते में पाए जाने वाला पोषक तत्व कौन- कौन सा है?

(1)फ्लेवोनॉयड्स

(2)फाइटोस्टेरॉल

(3)सैपोनिन

(4)टैनिन

(5)ट्राइटरपीनोइड्स

Ashok ke patte ke fayde

Ashok ke Patte ke Fayde कौन-कौन से होते हैं?

(1) कील मुंहासे के प्रॉब्लम को दूर करता है

एक सर्वे के अनुसार ज्यादा तैलीय पदार्थ के सेवन से कील मुंहासे होने की प्रायिकता बढ़ जाती है। कील मुंहासे चेहरे में होने से चेहरा भद्दा दिखने लगता है। जिससे मन नकारात्मक विचारों से ग्रसित हो जाता है। लेकिन आयुर्वेद में इस कील मुंहासे का उपचार है। बस आपको अशोक के पत्ते को पीस लेना है। पीस लेने के बाद जब अशोक के पत्ते का लेप तैयार हो जाए। उस लेप को कील मुंहासे के स्थान पर लगा दे। यह प्रक्रिया सप्ताह में कम से कम 3 बार करना है। इससे आपका कील मुंहासे ठीक भी हो जाएगा चेहरा बेदाग हो जाएगा। यदि आप चाहते हैं कि भविष्य में कील मुंहासे ना हो तो इसके लिए आप अशोक के पत्ते से उबले हुए पानी से प्रतिदिन सुबह अपने मुख को धूलिये। इससे आपको कील मुहांसा नहीं होगा।

(2)घुटने के दर्द को दूर करता है

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे के अनुसार हर 10 व्यक्ति में से 4 व्यक्ति घुटने के दर्द से परेशान है। घुटने में जो दर्द होता है। वह दर्द अक्सर वृद्ध व्यक्तियों को होता है या जो दौड़-धूप वाला काम करते हैं, उनको अक्सर घुटने में दर्द होता रहता है। यदि घुटने के दर्द से छुटकारा पाना है तो इसके लिए आप कपूर, हल्दी और अशोक के पत्ते को एक साथ पीसकर के लेप बना लेना है। उसके बाद इस लेप को घुटने पर बांध लेना है।यह आपको काफी हद तक घुटने के दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा।

(3) एंटी एजिंग का भी काम करता है

कोई भी व्यक्ति बूढ़ा होना नहीं चाहता है। बूढ़ा होना एक अभिशाप है। सब व्यक्ति चाहते हैं कि उम्र के अंतिम पड़ाव तक सुंदर दिखे। चेहरे की मांसपेशियों में तनाव झुर्रियां ना पड़े। कई व्यक्ति आपको ऐसे दिख जाते हैं जिनकी वास्तविक उम्र होती है 40 वर्ष। लेकिन देखने से लगते हैं 30 वर्ष के तो उसका कारण यह है कि उनके चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ी है। यदि आप भी ताउम्र तक जवां दिखना चाहते हैं तो इसके लिए आप अशोक के पत्ते को उबालने के बाद जो बचा हुआ पानी है। उस पानी में कुछ बूंद ग्लिसरीन का। मिलाइए। ग्लिसरीन मिला हुए पानी से अब चेहरे को धो लीजिये। इससे आपके चेहरे से मृत कोशिकाएं हट जाएंगे जिससे आपके चेहरे पर जल्दी झुर्रियां नहीं पड़ेंगे।

(4) अनियमित पीरियड की समस्या से राहत दिलाता है

जो महिलाएं अनियमित पीरियड की समस्या से परेशान है। उनको अशोक के पत्ते का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए। काढ़ा बनाने के लिए अशोक के पत्ते को पीसकर के उसका रस निकाल लेना है। उस रस में मिश्री मिलाकर के सुबह शाम पीना है। इससे अनियमित पीरियड की समस्या दूर हो जाएगी पीरियड नियमित हो जाएगा।

अशोक के पत्ते के सेवन के पश्चात इससे होने वाले नुकसान कौन-कौन से होते हैं?

(1) आवाज में भारीपन

(2) कब्ज की प्रॉब्लम

(3) जलन

(4) गले का बैठना

अशोक के पत्ते का सेवन करने से पहले कौन- कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए

(1) जो महिला गर्भवती है उसे अशोक के पत्ते का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श कर लेना चाहिए।

(2) अशोक के पत्ते का सेवन खुराक से ज्यादा नहीं करना चाहिए अन्यथा लाभ से ज्यादा हानि होंगे।

(3) एलर्जी से प्रभावित व्यक्ति को भी अशोक के पत्ते का सेवन करने से बचना चाहिए।

(4) जो कोई व्यक्ति किसी असाध्य रोग से पीड़ित है, उसे अशोक के पत्ते का सेवन नहीं करना चाहिए।

निष्कर्ष:

अशोक के पत्ते शरीर में होने वाली व्याधियों को दूर करने में सक्षम है। इतना ही नहीं इसके सेवन से कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता है। बस जो उपर्युक्त सावधानियां बताई गई है उसे केंद्र में रखकर अशोक के पत्ते का सेवन करना है।

FAQ:

(1)अशोक के पत्ते खाने से क्या होता है?

अशोक के पत्ती खाने से स्किन डिजीज और अनियमित पीरियड की प्रॉब्लम खत्म हो जाती है।

(2) अशोक के पत्ते का उपयोग कैसे करते हैं?

अशोक के पत्ते का उपयोग लेप के रूप में और चूर्ण के रूप में और काढ़ा या शर्बत के रूप में करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here