शुरू हो रहा है 2024 का Maagh Ka Mahina तुरंत कर लो यह काम पापों से मिलेगी मुक्ति और घर में होगी धन की वर्षा

0
290
शुरू हो रहा है 2024 का Maagh Ka Mahina तुरंत कर लो यह काम पापों से मिलेगी मुक्ति और घर में होगी धन की वर्षा

Maagh Ka Mahina 2024: माघ का महीना प्रारंभ हो चुका है।माघ का महीना पापो से मुक्ति देने वाला महीना है। मार्च के महीने में भगवान विष्णु, भगवान सूर्य देव, माता लक्ष्मी और भगवान शिव की उपासना करने से घर की दरिद्रता दूर हो जाती है घर में सुख समृद्धि का वास होता है। माघ का महीना 2024 में 21 जनवरी से लेकर के 19 फरवरी तक रहेगा। इस शुभ तिथि में आप अपने बिगड़े हुए काम को फिर से बनाने के लिए गंगा नदी में स्नान करिए इससे आपके सारे पूर्व जन्मों के कर्म फलित होंगे।

हिंदू धर्म में माघ का महीना महत्वपूर्ण क्यों होता है

हिंदू धर्म में माघ का महीना महत्वपूर्ण इसलिए होता है क्योंकि हिंदू धर्म को नई दिशा देने वाले भगवान श्रीकृष्ण से जुड़ा है। पहले माघ का नाम माध था आप लोग जानते होंगे भगवान श्रीकृष्ण को अर्जुन प्रेम से माधव कहते थे इसी माधव शब्द से माध शब्द बना फिर जाकर के यह पूर्वकाल में माघ बन गया हिंदू धर्म में माघ का महीना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि माघ के महीने में कई त्यौहार जैसे मकर संक्रांति का त्यौहार, बसंत पंचमी,माघ अमावस्या,नर्मदा जयंती, रथसप्तमी, गुप्त नवरात्रि आते हैं। हिंदू धर्म के अनुयायी माघ के महीने में प्रयागराज के संगम के तट पर कल्पवास करते हैं एक महीने तक।

माघ के महीने में पापों से मुक्ति के लिए क्या करना चाहिए

(1) मनचाहा धन प्राप्त करने के लिए शनिवार के दिन एक कपड़े में काला तिल और काला उर्द को बांधकर एक जरूरतमंद गरीब व्यक्ति को निष्काम भाव से दान करें इससे आपके ऊपर शनि देव की अपार कृपा बरसेगी और आपके घर में धन खूब आने लगेगा

(2)”ॐ नमः शिवाय” मंत्र का जाप करते हुए माघ के महीने में प्रतिदिन काले तिल और जल से शिवलिंग का अभिषेक करें।

(3) अपने घर के आंगन में लगे तुलसी की पूजा माघ के महीने में प्रतिदिन करनी चाहिए और रात्रि में दीपक जलाना ना भूले।

(4) माघ के महीने में बहुत ही ठंड पड़ती है इसलिए गरीब व्यक्तियों को ऊनी वस्त्र दान करें।

(5) घर में आया हुआ पैसा रुकता नहीं है तो माघ के महीने में काले तिल को अपने दाहिने हाथ में लेकर के परिवार के सभी सदस्यों के ऊपर अपने हाथ से फेरना है उसके बाद उत्तर दिशा की ओर फेंक देना है।

माघ के महीने में भूल से भी करें ना ये काम

(1) माघ के महीने में यदि आप कुछ दान कर रहे हैं तो दान करते वक्त अपने मन में अहंकार ना लाएं

(2) किसी के दबाव में आकर के दान नहीं करना है

(3) मूली का सेवन नहीं करना है

(4) मन,करम, वचन और वाणी से झूठ नहीं बोलना है

(5) मांस मछली और शराब का सेवन नहीं करना है

(6) दान करते वक्त आपके मन में किसी की प्रति घृणा का भाव नहीं होनी चाहिए।

(7) सुबह सूर्योदय के समय जल्दी उठ जाना है।

(8) किसी भी व्यक्ति से झगड़ा नहीं करना है

हिंदू धर्म को मानने वाले अनुयायी को माघ के महीने में क्या करना चाहिए

(1) रोज सुबह उठकर स्नान करना है उसके बाद भगवान श्री कृष्णा के चरणों में पंचामृत और पीले फूल अर्पित करें

(2) उसके बाद मधुराष्टक का पाठ करें

(3) अपनी हैसियत के अनुसार गरीब व्यक्तियों को भोजन कराए।

(4) हर व्यक्ति से चाहे वह किसी भी जाति या धर्म या किसी भी नस्ल या संप्रदाय या क्षेत्र से हो उससे प्रेम पूर्वक मधुर संवाद करें।

निष्कर्ष:

माघ का महीना प्रेम भाव का महीना है। इस महीने में ना तो ज्यादा गर्मी पड़ती है ना तो ज्यादा ठंडी कोई भी साधक इस महीने में उपर्युक्त बताए गए तरीकों का पालन करता है तो उसे भगवान विष्णु मनचाहा फल देते हैं।

माघ मास में किसकी पूजा करें?

माघ मास में भगवान सूर्य और भगवान विष्णु की आराधना करें

माघ मास में क्या दान करना चाहिए

माघ मास में काला तिल, गुड़ और ऊनी वस्त्र दान करना ज्यादा फलदाई माना जाता है।

हिंदू कैलेंडर में माघ माहिना क्या है

 माघ का महीना हिंदू कैलेंडर का 11वां महीना है।

माघ के महीने में कौन सा त्यौहार आता है?

माघ के महीने में मकर संक्रांति, बसंत पंचमी और गुप्त नवरात्रि, रथ सप्तशती, नर्मदा जयंती त्यौहार आता है।

माघ मास में स्नान कैसे किया जाता है?

माघ मास में हर दिन पानी में काला तिल डालकर स्नान  करें

माघी पूर्णिमा के दिन क्या करना चाहिए?

माघी पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की आराधना करनी चाहिए और जरूरतमंद व्यक्तियों को खाना और कपड़े दान करना चाहिए।

क्या माघ मास शादी के लिए अच्छा है?

माघ मास शादी के लिए सबसे उत्तम महीना माना जाता है।

माघ मास नहाने से क्या फल मिलता है?

माघ मास में नहाने से जितना फल अश्वमेध यज्ञ करने से मिलता है उतना फल नहाने से मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here